मध्य प्रदेश

सोहागपुर में बेटे की खुदकुशी पर विलाप कर रहा पिता भी ट्रेन की चपेट में आया

Spread the love

होशंगाबाद
 जिले के सोहागपुर स्थित मारूपुरा गांव निवासी एक युवक ने घरेलू कलह के चलते ट्रेन के सामने कूदकर खुदकुशी कर ली। वहीं जब बेटे द्वारा खुदकुशी करने की जानकारी पिता को लगी तो वे मौके पर पहुंच गए। बेटे का क्षतिविक्षत देख सुधबुध खो बैठे इसी दौरान वे भी ट्रेन की चपेट में आ गए। एक साथ पिता पुत्र की मौत ने लोगों के सकते में आ गए। घटना गुरुवार रात 12.30 बजे की बताई जा रही है। घटना की जानकारी लगने के बाद लोग बड़ी संख्या में घटनास्थल पर जमा हो गए थे। सोहागपुर पुलिस ने मर्ग केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी हैं तो वहीं पिपरिया जीआरपी ने भी केस दर्ज किया है। घटना के संबंध में सोहागपुर पुलिस व जीआरपी का अमला जानकारी जुटा रहा है। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि युवक का उसकी पत्नी से विवाद चल रहा था इसी के चलते परेशान था। दोनों शवों का अंतिम संस्कार सोहागपुर में नर्मदा किनारे किया गया।

 

विवाद के बाद ट्रेन के सामने कूदा बेटा

प्राप्त जानकारी के अनुसार छोटेलाल पिता मोहन लाल विश्वकर्मा 36 वर्ष का घर पर विवाद हो गया था। इसी विवाद के बाद वह घर से कुछ ही दूर पर स्थित रेलवे ट्रेक पर आकर खड़ा हो गया था। तभी ट्रेन के सामने आकर कूद गया। जिससे उसकी मौत हो गई। ट्रेन की चपेट में आने से शरीर के टुकड़े काफी दूर तक बिखर गए थे। बेटे के तलाश में मोहनलाल पिता सीताराम विश्वर्मा 60 वर्ष घर से निकले थे। तभी उन्हें जानकारी लगी कि छोटे लाल ट्रेन से टकरा गया है।

 

मोहनलाल विश्वकर्मा ने अपने बेटे के क्षतविक्षत शव को देखा तो वे बेसुध हो गए थे। उन्हें लोगों ने ढांढस बंधाया। वे वहीं रेलवे ट्रेक पर ही बैठ गए। इसी दौरान तेज गति से अगली ट्रेन ट्रेक पर आ गई। मोहनलाल जब तक संभल पाते ट्रेन बेहद करीब आ गई थी जिसके चलते वे भी ट्रेन की चपेट में आ गए और गंभीर रूप से घायल हो गए। उनके सिर सहित शरीर के अन्य जगहों पर गंभीर चोट आई। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन अस्पताल पहुंचने के पहले ही उन्हों ने दम तोड़ दिया। दिल दहला देने वाली घटना की जानकारी लगने के बाद खेत्र में गम का माहौल छा गया। एसआइ शुक्ला ने बताया कि मर्ग केस दर्ज किया गया है।