उत्तर प्रदेश

50 करोड़ रुपये की लागत से प्रयागराज में बनेंगी 125 नई सड़कें

Spread the love

प्रयागराज
प्रयागराज के लोगों के लिए यह अच्‍छी खबर है। शहर से लेकर गांवों तक के लोगों का सफर अब आरामदायक होगा। शहर व गांवों का विकास होगा, नई-नई सड़कें बनेंगी। शहर के अलग-अलग इलाकों में 125 नई सड़कों का निर्माण होगा। नई सड़कों का निर्माण लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) की ओर से जल्द ही कराया जाएगा। इसके लिए कार्ययोजना तैयार हो गई है। दो सप्ताह के भीतर सड़क निर्माण के लिए टेंडर जारी किया जाएगा।

गंगापार में 70 व यमुनापार में 55 नई सड़क बनेगी
50 करोड़ रुपये से अधिक की लागत में नई सड़कों का निर्माण किया जाएगा। सड़कों की लंबाई 150 किलोमीटर से अधिक होगी। आचार संहिता लगने के पहले इन सड़कों का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। गंगापार में 70 और यमुनापार में 55 नई सड़क का निर्माण किया जाएगा।

इसी वित्‍तीय वर्ष में पूरा होगा काम : पीडब्‍ल्‍यूडी सहायक अभियंता
पीडब्ल्यूडी के सहायक अभियंता सत्येंद्र नाथ ने बताया कि यह वह सड़कें है, जिसको बनाने का काम पिछले कई महीने से लटका हुआ था। अब इन सड़कों के निर्माण की कार्य योजना तैयार हो गई है। एक किलोमीटर से लेकर पांच किलोमीटर की लंबाई में एक-एक सड़क का निर्माण किया जाएगा। बजट मिलने के बाद सड़क निर्माण में तेजी आ जाएगी। बताया कि इसके अलावा भी कई सड़कों का टेंडर हो गया है। उन्हें भी प्राथमिकता के आधार पर इसी वित्तीय वर्ष में पूरा किया जाएगा।

पक्की सड़क गड्ढों में तब्दील, राह चलना दुश्वार
गंगापार के हनुमानगंज मेंकोटवा चौराहे से जमुनीपुर चौराहा को जाने वाले पहुंच मार्ग की हालत दयनीय है। इसे पक्की सड़क के बजाय गड्ढों वाली सड़क कहा जाए तो गलत नहीं होगा। इस ढाई किलोमीटर की सड़क को पहले लोग साइकिल से 10 से 12 मिनट में राहगीर तय करते थे, अब वह आधे घंटे से अधिक का समय लगता है। वाहन चलाने में हादसे की चिंता भी रहती है।

शिकायत के बाद भी सड़क की मरम्‍मत नहीं हुई
फूलपुर विधान सभा का क्षेत्र होने के कारण लोगों ने इसकी शिकायत क्षेत्रीय विधायक से भी बनवाने की बात कही लेकिन अब तक कोई काम नहीं हो सका। 10 वर्ष पूर्व बनी इस सड़क पर अनेकों गड्ढे हैं। सूखे मौसम में तो ठीक है लेकिन बारिश के मौसम में तो इस सड़क का उपयोग आपात स्थिति में ही करते हैं। गांव के हरिकेश सिंह, विकास कुमार उपाध्याय, शमशेर बहादुर सिंह, ललुवन यादव आदि लोगों का कहना है कि विधायक व सांसद से इस सड़क की समस्या के बारे में जानकारी दी गई, लेकिन ध्यान नहीं दिया गया।