उत्तर प्रदेश

टीआई सहित 4 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर, अवैध वसूली को लेकर गिरी गाज

Spread the love

सिंगरौली
जिले में पुलिसकर्मी को मारपीट के बाद अब टीआई समेत चार पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी है। मोरवा थाने के एएसआई पर बीते मंगलवार की रात ट्रक ड्राइवरों ने लाठी-डंडो से जमकर मारपीट की थी। घटना का वीडियो वायरल होने पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था।

सिंगरौली पुलिस लाइन हाजिर
डीआईजी मिथलेश शुक्ला थाने पहुंचे और घटना को संज्ञान में लिया। घटना की जांच किया तो पुलिसवालों पर अवैध वसूली का आरोप लगा, जिसके बाद डीआईजी ने कड़े रुख अपनाते हुए थानेदार समेत 4 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर करने के लिए पुलिस अधीक्षक को निर्देशित किया। पुलिस अधीक्षक ने मोरवा टीआई समेत 4 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर जांच शुरू कर दी है।

जानें पूरा मामला क्या हुआ था
बताते चलें- जंयत-सिंगरौली रोड पर 27 सितंबर की देर रात करीब 2 किलोमीटर तक लंबा जाम लगा हुआ था। पुलिसकर्मी जाम को हटाने के लिए मौके पर पहुंचे थे। पुलिसकर्मी पीछे से वाहनों को 1-1 कर हटवा रहे थे। उसी दौरान एएसआइ अरविंद चतुर्वेदी की सोहेब व शब्बीर नाम के ट्रक ड्राइवरों से कहासुनी होने लगी। बात इतनी बढ़ी कि ड्राइवरों ने एएसआइ पर लाठी- डंडे बरसाना शुरू कर दिया। वहां मौजूद किसी ने वीडियो बना लिया, जिसे इंटरने पर वायरल कर दिया गया। मामले में पुलिसकर्मियों पर वसूली का आरोप लगाया गया है।

इंटरनेट पर मामला तूल पकड़ने के बाद डीआइजी, पुलिस अधीक्षक व एएसपी 27 सितंबर को मोरवा पहुंचे। वहां जांच पड़ताल में पुलिस पर वसूली के आरोप लगे। इस पर थानेदार मनीष त्रिपाठी,अरविंद चतुर्वेदी व प्रधान आरक्षक संजय सिंह परिहार, एएसआइ डीएन सिंह, को लाइन अटैच कर दिया है।