उत्तर प्रदेश

लोगों के लिए राहत की खबर : डेंगू का डंक हुआ कमजोर, मरने लगे लार्वा

Spread the love

लखनऊ 

तापमान में धीरे-धीरे गिरावट दर्ज की जा रही है। इसके साथ ही डेंगू के प्रकोप में भी कमी आने की उम्मीद बढ़ गई है। करीब एक सप्ताह में डेंगू का डंक पूरी तरह से कमजोर हो जाएगा। ठंड की वजह से डेंगू मच्छर के लार्वा के मरने का सिलसिला शुरू हो गया है। अब तक 1713 से अधिक लोग डेंगू की चपेट में आ रहे हैं। रोजाना 25 से 35 लोग डेंगू की जद में आ रहे हैं। डॉक्टरों का कहना है कि अभी एक सप्ताह मरीजों की संख्या लगभग ऐसी ही रहेगी। इसके बाद मरीजों की संख्या में गिरावट आएगी।

एंटीलार्वा का छिड़काव व ठंड से मर रहे लार्वा
जिला मलेरिया अधिकारी रितु श्रीवास्तव के मुताबिक लगातार एंटीलार्वा का छिड़काव कराया जा रहा है। फागिंग की भी रफ्तार बढ़ी है। ठंड भी बढ़ी है। ऐसे में डेंगू के लार्वा पनपने का खतरा कम हो गया है। मलेरिया ईकाई की टीम को जांच में बड़े पैमाने पर डेंगू मच्छर के लार्वा मरे हुए भी मिल रहे हैं। जबकि डेढ़ से दो सप्ताह पहले ये लार्वा जीवित अवस्था में मिल रहे थे।

21 दिन जिंदा रहते हैं मच्छर
जिला मलेरिया अधिकारी रितु श्रीवास्तव बताती हैं कि मच्छरों की जिंदगी करीब 21 दिन की होती है। ठंड से नए मच्छरों के पनपने की संख्या में कमी आएगी। वहीं संक्रमित मच्छरों का प्रभाव भी कम होगा।