मनोरंजन

आशा पारेख ने शादियों में वेस्टर्न ड्रेस पहनने पर उठाए सवाल

Spread the love

 नई दिल्ली

दिग्गज एक्ट्रेस आशा पारेख ने गोवा में आयोजित 53वें इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया  में शिरकत की. इवेंट में आशा पारेख ने फिल्म इंडस्ट्री और सोसाइटी कल्चर के बारे में बात की. यहां आशा पारेख ने महिलाओं के बारे में जो कहा, उस पर सोशल मीडिया रिएक्शन भी आने लगे हैं. आशा की बातों से लोग अहमत दिखे.

आशा पारेख ने क्या कहा?

आशा पारेख के मुताबिक, उन्हें ये देखकर दुख होता है कि शादियों में लड़कियां ट्रैडिशनल ड्रैसेज जैसे घाघरा-चोली को छोड़ वेस्टर्न ड्रेसेज और गाउन पहनती हैं. वे कहती हैं- सब  कुछ बदल गया है. अब जो फिल्में बन रही हैं… मुझे नहीं पता. हम काफी वेस्टर्नाइज्ड हो गए हैं. गाउन पहनकर शादी में आ रही हैं लड़कियां. अरे भैया, हमारी घाघरा चोली, साड़ियां और सलवार कमीज है आप वो पहनो ना. आप उन्हें क्यों नहीं पहनते हो?

वे बस स्क्रीन पर हीरोइनों को देखती हैं और उन्हें कॉपी करना चाहती हैं. स्क्रीन पर देखकर सोचते हैं वो जो कपड़े पहन रहे हैं, उस तरह के कपड़े हम भी पहनेंगे. मोटे हो या जो, हम वही  पहनेंगे. ये सब वेस्टर्न हो रहा है. मुझे दुख होता है. हमारा महान कल्चर है, डांस, म्यूजिक है. ''

दिलीप कुमार संग काम करने पर क्या कहा?

आशा पारेख ने इवेंट में दिलीप कुमार संग अपने विवाद पर भी बात की. आशा पारेख को लेकर अटकलें थीं कि वो दिलीप कुमार को पसंद नहीं करती थीं. ये वजह थी कि दोनों ने कभी साथ में काम नहीं किया था. आशा कहती हैं- 5 साल पहले किसी ने लिखा कि मैं दिलीप कुमार को पसंद नहीं करती इसलिए कभी उनके साथ काम नहीं किया. ये गलत है. मैं उन्हें बेहद पसंद करती थी. हमेशा उनके साथ काम करना चाहती थी. मैंने उनके साथ मूवी जबरदस्ती साइन की थी. हम साथ काम करने वाले थे. मगर वो फिल्म कभी बनी नहीं. मैं अनलकी रही.

आशा पारेख की बात करें तो वे अपने दौर की बड़ी एक्ट्रेस रही हैं. आशा पारेख उस दौर की हाईएस्ट पेड एक्ट्रेसेज में शुमार थीं. उन्हें बॉलीवुड की मोस्ट इंफ्लूएंशियल एक्ट्रेस में गिना जाता है. इंडियन सिनेमा में अपने अहम योगदान के लिए वे पद्म श्री और दादासाहेब फाल्के अवॉर्ड से भी सम्मानित हैं.